हाय तौबा!

  रमोला के परिवार में उसका पति रवि और उनका बेटा था। रवि एक छोटी सी दुकान में काम करता था। रमोला ने अपने पति को आवाज दी जल्दी आओ खाना मेज पर लग गया है। उसी समय उसके दरवाजे पर दस्तक हुई रमोला ने देखा कि एक भिखारी उसके घर का दरवाजा खटखटा रहा… Continue reading हाय तौबा!

Posted in Uncategorized

एक भूल

सविता और शेखर अपने बेटे आदित्य के साथ बहुत खुश थे ।आदित्य एक होनहार बालक था। वह ज्यादातर समय अपने दादा जी के साथ ही रहनाचाहता था।वह जब भी स्कूल से आता अपने दादा जी के साथ थोड़ी देर  बातें करता उनसे कहानी सुनताउनका बहुत ही ध्यान रखता था ।सविता भी एक ऑफिस में कार्यरत… Continue reading एक भूल

Posted in Uncategorized