नन्हें सिपाही कविता

हम बच्चे हैं प्यारे, दुशमन से ना हारे। आज नहीं तो कल परसों पाएंगे मंजिल सारे।। हम इस उपवन के हैं नन्हे नन्हे वीर। इस धरा की है आने वाली तकदीर।। अपने हाथों की लकीरें खुद लिख कर लाए हैं। हम इस भारत के भाग्य विधाता बन कर आए हैं।। हम बच्चे हैं प्यारे,  दुशमन… Continue reading नन्हें सिपाही कविता

बहु कविता

बहु को बेटी की नजर से देखो अरे दुनिया वालो। बहु में अपनी बेटी को तलाशों दुनिया वालों।। बेटी और बहु में फर्क मत करना। जग में अपनी जग हंसाई मत करना।। जितना प्यार अपनी बेटी को करते हो। उससे भी वही प्यार करना दोस्तों।। उसको भी वही दुलार देने की कोशिश करना । वंहीं… Continue reading बहु कविता

कृषक कविता

त्याग तपस्या और श्रम की साक्षात मूर्ति है किसान। नगरवासियों  के अन्न्दाता सृष्टि पालक हैं किसान।। धूप गर्मी सर्दी वर्षा सब सहन करता  रहता। भगवान विष्णु के समान जग का पालन करता रहता। घास फूस की झोंपड़ीयों में रह कर दिन रात कोल्हू के बैल की तरह पिस्ता रहता हर दम  किसान। सेवा और परिश्रम… Continue reading कृषक कविता

कोशिश

चंपा और सुमेश के परिवार में उनकी दो बेटियां थी। सुमेश मेहनत मजदूरी करके अपना भरण-पोषण करता था ।खेतों में भी थोड़ा बहुत अनाज  उगा लेता था और दिन को मजदूरी करके वापस घर आ जाता था। सुमेश की 2 बेटियां थी। मिन्नीऔर विन्नी, दोनों ही बहुत सुंदर सुशील और सभ्य थी। छोटी बेटी मिन्नी… Continue reading कोशिश

मिन्नी का जन्मदिन

मिन्नी स्कूल से घर लौट कर कर हर रोज़ की तरह अपनी सहेलीयों के साथ खेलनें के लिए निकल जाती थी। सभी अपने अपने भाइयों की तारीफ करते नहीं थकती थीं। वे आपस में एक दिन कहने लगी कि राखी का त्यौहार नज़दीक आ रहा है । कोई कहती थी मैं तो अपने भाई के… Continue reading मिन्नी का जन्मदिन

नशा नाश का दूजा नाम।

नशा नाश का दूजा नाम।   घर की बर्बादी है इसका काम।।  नशे से अपनें बच्चों को बचाना। तुम उन्हें प्यार से समझा कर होश में लाना।। इससे जग में तो होगी ही जग हंसाई।  अपनी रही सही इज्जत भी समझो तुम ने गंवाई।।  नशे की आदत से बचो दुनिया वालों।  अभी भी वक्त है संभल… Continue reading नशा नाश का दूजा नाम।

रहस्यमयी गुफा भाग 7

गुफा के पास पहुंच कर गोलू ने  जादुगर द्वारा प्राप्त बालों से बौने को बुलाया और उसकी मदद से वह  जादुगर  राक्षस सिंकारा की पत्नी का रूप धारण कर के गुफा के अंदर चला गया । सिंकारा की पत्नी को उसने चुपके से  नशे की दवा पिला के थोड़ी देर के लिए बेहोश कर दिया… Continue reading रहस्यमयी गुफा भाग 7

ग्रीन टी का सदुपयोग

ग्रीन टी सेहत के लिए भी है सहचारी बिमारियों से बचाने में यह है गुणकारी ।।ं सुबह सुबह उर्जा से  है भरपूर इसकी   प्याली।  इसके सेवन नें  व्यक्ति में स्फूर्ति जगा डाली।। हरी पत्तियों का स्वाद लिए व्यक्ति में जोश और  उमंग जगाए। दिल के हर एक कोने में मिठास का एहसास कराएं ।। विलक्षण… Continue reading ग्रीन टी का सदुपयोग

मधुर बचपन के पल

मधुर बचपन के वे क्षण याद आते हैं। धुंधली यादों के साए नजर आते हैं ।। बचपन की अठखेलियां के वे चंचल लम्हे याद आते हैं। दोस्तों संग मस्ती के  वे क्षण याद आते हैं।। कैसे भुलें  कैसे भुलें   मां पापा का प्यार। नाना नानी का लाड दुलार।। मधुर बचपन के वे  स्मृति चिन्ह मानस… Continue reading मधुर बचपन के पल

कटोरी और घड़े की नोंक झोंक

एक घड़ा पानी से भरा भरा रहता था।। साफ स्वच्छ और लबालब धरा रहता था । उसके ऊपर एक कटोरी सदा ही शोभायमान रहती थी। शोभायमान होकर अपनी अकड़ दिखाती रहती थी । पात्र घडे के पास पानी पीने जाते । जल पीने के लिए उनके सामने अपना मुख नवातें। घड़ा प्रसन्नता पूर्वक उनको जल… Continue reading कटोरी और घड़े की नोंक झोंक