उज्ज्वल भविष्य

, कक्षा की घंटी जैसे ही बजी राहुल ने देखा उसकी कक्षा में आज एक नया छात्र दाखिल हुआ। सभी बच्चे कक्षा में पढ़ने में मग्न थे उसकी कक्षा अध्यापिका ने राहुल को कहा राहुल रोहित आज तुम्हारे साथ बैठेगा। वह आज स्कूल में पढ़ने के लिए आया है। रोहित के माता-पिता उसके गांव में… Continue reading उज्ज्वल भविष्य

Posted in Uncategorized

बचपना

रघु और राघव दो दोस्त थे। रघु देखने में सुंदर चंचल स्वभाव और शरारतें करने में माहिर। राघव शांत और एकदम गंभीर। दोनों एक ही मोहल्ले में रहते थे। रघु अमीर परिवार का बेटा था। राघव एक मध्यमवर्गीय परिवार का। रघु के पिता जाने-माने प्रतिष्ठित व्यापारी थे। रघु और राघव दोनों एक ही स्कूल में… Continue reading बचपना

Posted in Uncategorized