सपनों की उड़ान

आओ बच्चों तुमको सपनों की दुनिया में ले चलें। तारों और गगन की छांव में झूला झूला सकें। आशा की किरण जगा कर उत्साह जगा सकें।। आओ बच्चों तुम को सपनों की दुनिया में ले चले। झूमते गाते हरी वादियों में ले चलें।। आओ बच्चों तुमको सपनों की दुनिया में ले चलें। बनाओ मिसाल ऐसी… Continue reading सपनों की उड़ान

नन्ही चिड़िया की पुकार

नन्ही चिड़िया मां से बोली। मैं हूं तेरी प्यारी भोली।। जल्दी से दाना देखकर मेरी भूख मिटाओ न। कहानी सुनाकर मेरा दिल बहलाओ न।। मां बोली ना कर शैतानी। हर दम करती रहती मनमानी।। नन्ही चिड़िया बोली अभी खेलने जाना है। नन्ही चिड़ियों संग खेल खूब धमाल मचाना है।। मां चिड़िया बोली तेरी एक नहीं… Continue reading नन्ही चिड़िया की पुकार

फलों और सब्जियों की उपयोगिता

फल खाए फल खाएं। फल खाकर अपनी सेहत खुब बनाएं।। फल खाकर त्वचा पर  चमक लाएं। गलत तरीके द्वारा  शरीर की क्रियाओं में कमी पाएं।। सुबह-सुबह नाश्ते में खाएं  फल भरपूर। इसको खा कर हो जाएं   सेहतमन्द जरुर।। सब्जियों का सेवन हर मौसम में करो, इसका सेवन है लाभकारी। इससे दूर हो जाए हर बीमारी।।… Continue reading फलों और सब्जियों की उपयोगिता

मेरा जन्म दिन आया

मेरे लिए खुशी का दिन आया। सबने मिलकर मेरा जन्मदिन मनाया।। परिवार वालों ने मिलकर दी बधाई। उन सभी ने मेरे दोस्तों के संग बांटी मिठाई।। अपने जन्मदिन पर सभी सहेलियों और मित्रों को बुलाया। उन्होंने अपने नए अंदाज में मुझ से केक कटवाया।। कुछ समीप के रिश्तेदार और अंकल आंटी भी थे आए। उन्होंने… Continue reading मेरा जन्म दिन आया

भ्रष्टाचार है घोर अभिशाप

भ्रष्टाचार है एक घोर अभिशाप। इसने अपनी कुत्सित भावना से  विश्व का कर डाला  अविनाश।। इसका भयंकर रूप मलिन और घिनौना है। जिसने हर मानव का नींद चैन छीना है।। भ्रष्टाचार ने संपूर्ण विश्व में अपनी जड़े जमा रखी हैं। नाग बन कर अपनी कुंडली मार कर अपनी निगाहें इस देश पर टिका रखी हैं।।… Continue reading भ्रष्टाचार है घोर अभिशाप

मीठा आम मुझे है भाता

  मीठा आम मुझको है भाता। उसको खाने में बड़ा ही मजा आता।। अंगूर, सेब, केला, संतरा, अमरूद अनार है फल। जिन सभी के गुण देख कर आप रह जाएंगे दंग।। यह सभी किसी न किसी विटामिन की  कमी को पूरा है करते। जिसको खाकर  हम भरपूर  चुस्ती का अनुभव है करते।। आम विश्व में… Continue reading मीठा आम मुझे है भाता

इन्टरनेट का उपयोग

समाज में सूचनाओं को संप्रेषित करता है इंटरनेट। ज्ञान के प्रसारण में अहम भूमिका निभाता है इंटरनेट।। जो इसका  पालन  है करता। वह दूर बैठे बैठे ही अपने परिजनों से है मिल पाता।। यह एक आधुनिक युग की है जान। नई पीढ़ी की टेक्नोलॉजी की शान।। इसके अत्यधिक इस्तेमाल से लोगों का आपसी संपर्क कम… Continue reading इन्टरनेट का उपयोग

मेराघर

मेरा घर जगमग करता। सुंदर आकर्षक और साफसुथरा दिखता। मेरे मन के हर दर्पण को मोहित करता।। घर में दस कमरे हैं और एक है हॉल। जिस में हमेशा पढ़ाई करने का सदा रहता है माहौल।। खुली खुली खिड़कियां और एक है बाल्कनी। सुबह सुबह बाहर की ताजी हवा है आती और मेरे मन की… Continue reading मेराघर

बेटी बचाओ बेटी पढाओ

बेटियों को पढ़ाना है मकसद हमारा। यही तो जीवन का यथार्थ है हमारा।। कब तक अपने जीवन को दिलासा देते रहेंगे। एक बेटे की तमन्ना में सब कुछ खोते रहेंगे।। बेटियों को पढ़ाओगे तभी खुशहाल बन पाओगे। दूसरों की बातों में ना आकर उनका भविष्य संवार पाओगे।। बेटियाँ तो अपने घर की नींव को ऊंचाइयों… Continue reading बेटी बचाओ बेटी पढाओ