नशे की प्रवृत्ति है घातक

मिल कर कदम बढाना होगा।
नशे की प्रवृति से अपनें बच्चों को छुटकारा दिलवाना होगा।।
नशे की प्रवृति है घातक।
यह घर घर कि बर्बादी का है द्योतक।।
मादक पदार्थों से मूल्यवान है हमारी युवा पीढ़ी ।
बच्चों में दृढ़ निश्चय और विवेक से अच्छे संस्कार जगा कर सुधारना कामयाबी की है सीढ़ी।।

बीड़ी सिगरेट में यह है सबसे बड़ी खराबी ।
इसे चौबीसों घंटे पीने से होती है सेहत और घर घर की बर्बादी।।
धूम्रपान करने वाले व्यक्ति के पास वातावरण में निकोटीन मिला हुआ धुआं प्रदूषण है फैलाता।
यह व्यक्ति के सद्गुण को लुप्त कर बुद्धि का नाश है करवाता।।
सेहतमंद रहने के लिए धूम्रपान छुड़वाना होगा।
दुर्व्यसनों को त्याग कर बच्चों में ज्ञान का प्रकाश जगाना होगा।।
समय से पहले बच्चों को संभालना है जरूरी।
उनकी गतिविधियों पर ध्यान देकर उन्हें बदलना है जरूरी।।
धूम्रपान पान गुटखा खाने से अपने बच्चों को बचाना होगा।
अपने बच्चों को सुधारने का हर संभव प्रयत्न करना होगा।।
गुटका खैनी इन्हीं चौबीसों घंटे खाने से होती है घर की बर्बादी।
यह घर के सर्वनाश का द्वार है खटखटाती।।
धूम्रपान करना वाला व्यक्ति एक नहीं अनेक बीमारियों को बढ़ावा है देता।
धूम्रपान फेफड़ों के कैंसर,गले का कैसर,खून का कैंसर,आंखों की रोशनी में कमी,और मल्टीपल स्कैलरोसिस को न्योता है देता ।।
जिस प्रकार सूर्योदय से पहले उठना है जरूरी।
उसी तरह समय से पहले बच्चों की गतिविधियों को बदलना है जरूरी।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *