प्रौढ़ व्यक्तियों के जीवन को खुशहाल बनाएं

आओ साक्षारता अभियान को सफल कर प्रौढ़ व्यक्तियों के जीवन में एक नया उत्साह जगाएं।
शिक्षा के प्रति रुचि जागृत कर, उन में प्रकाश का दीपक जलाएं।।

आओ घर घर जाकर उन्हें पढानें का सन्देश ,हर कस्बे गली, मोहल्ले में फैलाएं।
उन्हें साक्षर कर अपने मन में खुशी का एहसास लाएं।।

झुग्गी झोंपड़ी वालों को भी आगे ला कर पढ़ाई का मोल समझाएं।
अशिक्षित लोगों को समझा बुझा कर आगे ला कर उन्हें भी पढ़ाएं।।
उन में हौसले कि किरण का समावेश जगा कर उन में साहस जुटाएं।
उन में शिक्षा का प्रसार और मार्गदर्शन कर सभी साधन उपलब्ध करवाएं।।

शिक्षा जीवन में है बहुत ही जरुरी।
शिक्षा बिना मानव जीवन की गाड़ी रह जाएगी अधूरी।।
शिक्षा के महत्व को समझा कर इस अभियान को सफल कर पाएं ।
अपनें प्रयासों को सफल बना कर उनके सुखद परिणाम पाएं ।।
विद्या विहीन को विद्या दिला उन में सुखद अनुभूति जगाएं।
अपनी कोशिशों से उसे अच्छा और नेक इन्सान बना कर दिखलाएं।।

शिक्षा से कोसों दूर व्यक्तियों को साक्षर बनाने के लिए हर प्रयास जुटाएं
संकीर्ण बुद्धि वालों और संकोच भावना रखनें वालों को भी,
सूझबूझ और तर्क वितर्क से जीवन कि वास्तविकता समझाएं।
उन के मन में विद्या प्राप्त करनें का जज्बा दे कर सफल बनाएं।।

प्रौढ व्यक्ति जीवन में आने वाली समस्याओं का समाधान खुद कर पाएगा।
रुपये,पैसे,और आय व्यय का अच्छी तरह हिसाब कर पाएगा।।
साक्षर बन कर उनके रहन-सहन में अन्तर आ जाएगा,
साक्षर हो कर दर दर ठोकरें खानें से वह बच जाएगा।
समाज में सम्मान प्रतिष्ठा सब हासिल कर पाएगा।।

उनका बच्चा भी आगे पढ़ कर एक अच्छा इंसान बन पाएगा।
वह आगे आनें से कभी भी नहीं हिचकिचाएगा,
अपनें मां पिता और गुरुजनों से आशिर्वाद ले कर खुशी से आगे बढ़ पायेगा।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *