अनोखी गिनती

एक दो तीन चार। गाय की टांगें चार पांच छः, सात आठ। मकडी की टांगे आठ।   नो दस ग्यारह बारह। एक दर्जन में होतें हैं बारह। तेरह चौदह, पन्द्रह सोलह। आठ दूनी होतें हैं सोलह।   सतराह, अठारह, उन्नीस बीस। हमारे हाथ पांव की ऊंगलियां बीस। इक्कीस बाक्स, तेईस चौबीस। हमारे राष्ट्रीय झंडे में… Continue reading अनोखी गिनती

मजबूत बंधन

शिवानी और रुपेश के परिवार में उनकी छोटी सी बेटी रानी थी। शिवानी ने रुपेश के साथ प्रेम विवाह किया था। वह भी अपने मां बाप के विरुद्ध जाकर। शिवानी के माता-पिता ने उसे कहा था कि तुम ने अगर अपनी इच्छा से शादी करनी है तो हमारे घर के द्वार तुम्हारे लिए सदा के… Continue reading मजबूत बंधन

Posted in Uncategorized