हमशक्ल

चीनू को उसकी मम्मी ने हॉस्टल में दाखिल करवा दिया था क्योंकि वह घर में ज्यादा पढ़ाई में ध्यान नहीं दे पाती थी। उसकी मम्मी ने इसलिए दाखिल करवाया था ताकि वह अपना पूरा ध्यान अपनी पढ़ाई में केंद्रित करें। घर पर उसे पढ़ाना मुश्किल था। वह आगे हॉस्टल से कोचिंग भी ले रही थी।… Continue reading हमशक्ल

Posted in Uncategorized

कौवे और लोमड़ी की सूझबूझ

एक पेड़ की डाल पर पर बहुत से कौवे हुए रहते थे। उस पर पर उनके छोटे-छोटे बच्चे भी रहते थे। पास ही वृक्ष की खोल में बहुत सारे कबूतर भी रहते थे। कौवे हर रोज अपने बच्चों के लिए दाना रखकर जाते थे। उन को दाना रखते हुए एक लोमड़ी देखा करती थी। वह… Continue reading कौवे और लोमड़ी की सूझबूझ

Posted in Uncategorized