क्रूर सिंह

एक गांव में बहुत ही लंबा चौड़ा हट्टा-कट्टा एक पहलवान रहा करता था। किसी जमानें में वह मश्हूर ठग हुआ करता था। । मगर  जूल्म साबित न  हो जाने पर उसे जेल वालों ने छोड़ दिया था। वह काफी दिन तक जेल की हवा खा कर आया था। इसलिए लोग उसको मिलनें से भी कतराते… Continue reading क्रूर सिंह

Posted in Uncategorized

परोपकार

रामू आज भी स्कूल देर से पहुंचा था। मैडम ने आते ही उसे बेंच पर खड़ा कर दिया। तुम्हें एक महीना हो गया कहते-कहते जल्दी स्कूल आया करो। हर रोज देर से आते हो। यह देखो तुम्हारी उपस्थिति।   तुम समय पर स्कूल नहीं पहुंचोगे तो तुम्हें स्कूल से निकाल दिया जाएगा रामू बहुत ही मायूस… Continue reading परोपकार

Posted in Uncategorized