बिछडा बेटा

एक गांव में जमुना नाम की औरत थी। उसके एक बेटा था और एक बेटी थी जमुना अपने छोटे से बेटे को लेकर अपने भाई के घर जा रही थी ।तेजू अभी केवल  तीन साल का था गाड़ी अपनी पूरी रफ्तार से चली जा रही थी रात हो चुकी थी आधी रात के वक्त तेजू… Continue reading बिछडा बेटा

Posted in Uncategorized

दर्जी और उसका दोस्त पुरु

एक दर्जी था। वह  रोज लोगों के कपड़े सिलकर अपनी आजीविका चला रहा था। लोगों को उस दर्जी से कपड़े सिलवाना अच्छा लगता था क्योंकि वह लोगों के कपड़े बहुत ही अच्छे ढंग से उनके नाप के अनुकूल सिलाई करता था। उसका एक बेटा था वह कॉलेज में पढ़ता था। वह अपने पापा को कहता… Continue reading दर्जी और उसका दोस्त पुरु

Posted in Uncategorized