गिलहरी

मैं हूं गिलहरी में हूं गिलहरी। कितनी सुनहरी कितनी रुपहली। छोटे से मन वाली। छोटे से तन वाली।। क्षण में ऊपर। क्षण में नीचे।। फुदक फुदक कर मंडराने वाली। मैं हूं  गिलहरी मैं हूं गिलहरी। कुतर कुतर कर फल खाने वाली।। फलमटर और मूंगफली के दानों को खाने वाली। फुदक फुदक कर एक कोने से… Continue reading गिलहरी

Posted in Uncategorized

स्वेत रंग सात रंगो का है मिश्रण

स्वेत रंग सात रंगो का है मिश्रण। सर आइजक ने  खोज कर किया इसका निरीक्षण गति के नियमों का भी खोज कर  दर्शाया। गुरुत्वाकर्षण के  सिद्धान्तों को भी  निरुपित कर दिखाया। इन्द्रधनुष है कितना प्यारा। कितना सुन्दर कितना न्यारा। वर्षा के बाद   सुनहरा दिखता  इसी लिए   मनमोहक लगता। जामुनी, नीला पीला हरा नारंगीऔर और अंत… Continue reading स्वेत रंग सात रंगो का है मिश्रण

Posted in Uncategorized