होनहार बहु

मेताली और सोनाली दो सहेलियां थी। मेताली और सोनाली का घर भी थोड़ी दूरी पर ही था। दोनों इकट्ठे स्कूल जाते मेताली पढ़ने में होशियार थी इसलिए सोनाली की मम्मी उस से बहुत ही नफरत करती थी ।वह सोचती थी कि मेरी सोनाली इस मिताली की तरह होशियार क्यों नहीं बन जाती इसलिए इस वह… Continue reading होनहार बहु

Posted in Uncategorized

राजू और उसकी दोस्त चिड़िया

राजू के घर के पास एक छोटा सा घोंसला था। उस पर गाने वाली चिड़िया रहती थी। वह चिड़िया इतना मीठा गाना सुनाती कि  राजू उस चिड़िया की मधुर गुंजन से  भाव विभोर होकर  उसके घोसले के पास  स्कूल से आकर घंटों  बैठा रहता और उसके साथ खेलता रहता।  उसे ऐसा महसूस होता कि वह… Continue reading राजू और उसकी दोस्त चिड़िया

Posted in Uncategorized