देवव्रत

किसी गांव में नीधी और विधि दो बहने थी। इन दोनों के पति किसी दुर्घटना में मर चुके थे उनके कोई भी बच्चा नहीं था वह चाहती थी कि अगर कोई बच्चा उन्हें गोद मिल जाता तो बहुत ही अच्छा था ।उन्हें गांव के लोगों ने बताया कि तुम अनाथालय से अपनी इस इच्छा को… Continue reading देवव्रत

Posted in Uncategorized

जॉनी और उसके दोस्त तोते

जॉनी केवल चार वर्ष का था जब उसकी मम्मी ने उससे पूछा कि बेटा इस वर्ष तुम्हें तुम्हारे जन्मदिन पर क्या लेना है। वह तुतलाते हुए बोला तोता तोता ।उसके मम्मी पापा उसे उस समयं चिड़िया घर ले गए थे। चिड़ियाघर में उसने बहुत सारे जानवर देखे रंग-बिरंगे हरे तोते को देख कर उसने अपने… Continue reading जॉनी और उसके दोस्त तोते

Posted in Uncategorized

विकी की सूझबूझ

महेंद्र नाथ और उसकी पत्नी एक छोटे से गांव में रहते थे। उनका एक बेटा था विकी। वह अपने बेटे को बहुत बड़ा इंसान बनाना चाहते थे। वह उसको हर अच्छी शिक्षा दिलवाना चाहते थे उनका बेटा उनकी कसौटी पर कभी खरा नहीं उतरता था। वह साथ ही साथ उसको अच्छे संस्कार भी देना चाहते… Continue reading विकी की सूझबूझ

Posted in Uncategorized