ब्राह्मण और ब्राहमणी की नोकझोंक

किसी गांव में एक ब्राह्मण और ब्राह्मणी रहते थे। उनके परिवार में कोई भी नहीं था। केवल एक दूर का भतीजा था। उनके पास कुछ भी नहीं था। भिक्षा मांग मांग कर अपना गुजारा किया करते थे। जो कुछ भी भिक्षा से मिलता उसे खा पीकर गुजारा किया करते थे। जब भी वे भिक्षा मांगते… Continue reading ब्राह्मण और ब्राहमणी की नोकझोंक

Posted in Uncategorized

लालची धन्ना सेठ

, यह कहानी एक छोटे से गांव की है। उस गांव में सभी लोग खुश थे.।उस गांव में एक राजा था। राजा ने अपने राज्य में यह ऐलान कर दिया कि कोई भी इंसान किसी दूसरे पर अगर अत्याचार करें या उस पर हमला करेगा तो उसे मृत्युदंड दिया जाएगा। उसे उम्र भर की सजा… Continue reading लालची धन्ना सेठ

Posted in Uncategorized